.dateHeader/>

शुगर की बीमारी 15 दिन में खत्म करे। HOW TO DIABETIES MADHUMEY IS CONTROL.??

       हेलो,   दोस्तों।      मधुमेय ,डायबटीज़, शुगर को खत्म कैसे करे। ya diabedies control kaise kare
      आपको बता दे की आज की दुनिया में शुगर बहोत ही बढ़ता जा रहा हे. और आज की दुनिया में आधे लोग शुगर से रहते हे. शुगर डीबीटीएस या मधुमेय एक ऐसी बीमारी हे. जो अगर एक बार लग जाती तो उसे लगातार एलोपैथ की दवाईया लेनी पढ़ती हे. इसके बाद भी ये दवाइया शुगर से छुटकारा दिलाने में ना काम रहती हे. मधुमे सबसे तेजी से फैलने वाली बीमारिया होती हे. भारत में लगभग ६ करोट लोग मधुमेय बीमारी से हे. आने वाले सालो में बढ़ती जा रही हे.


मधु मेय  के रोग में खून के अंदर शुगर की मात्रा अद्धिक हो जाती हे. और रोगी के शरीर में एक अंसुलीन प्रकृति से बनना बंद हो जाती हे. अगर किसी व्यक्ति को मधुमेय यानि शुगर की बीमारी होती हे. तो उसे चोट लगने पर या घाव लगने पर सामान्य व्यक्ति के तुलना में कही ज्यादा टाइम लगता हे. उसके घाव आसानी से नहीं भरते। इसिलिये मदुमेय के रोगी शरीर में इस्न्सुरियन की मात्रा नियंत्रित करने के लिए दवाइयों और टेको का सहरा लेते हे. और सारे उम्ब्र  उन मीठा या मीठे  से बने पधार्त तो का सेवन करने की मनाई करते हे. वैसे तो अब तक ऐसी कोई दवाई नहीं बनी जिसके सेवन से हे. हम यानि शुगर को जड़ से खत्म कर सके। हम सिर्फ दवाइयोका सेवन करके इसे नियंत्रण में तो ला सकते हे. पर जड़ से ख़त्म नह कर  पाते.लेकिन आय्रुवेदिक में कुछ ऐसे उपाय हे. जिनको अपना कर हम मधुमेय को जड़ से खत्म कर सकते है.


                    घरेलु उपाय।

गुडल के पत्ते। 

*      गुडल यानिकि हिबिक्स का पेड़ बहुत ही कॉमन होता है यहाँ आपको किसी भी गार्डन या नर्सरी में मिल जाएंगे  इसके अन्दर लाल कलर का फूल उगता हे और यहाँ पेड़ दिखने में बहुत ही साधारण सा दीखता हे पर जितना साधरण  यहाँ फूल दीखता हे जिससे कहि ज्यादा गुना इसके अध्भुत फायदे भी बहोत हे.  इसीलिए इसका इस्तमाल कही तरह की दवाइयों और कॉस्मेटिक में किया जाता हे. इस नुस्के को बनाने के लिए गुडल के आठ या दस पत्ते को अच्छी तरह पीस कर इसकी एक चटनी बनाले फिर एक ग्लास पानी में तीन या चार चमच चटनी को अच्छी तरह से मिला कर रात भर के लिए रख दे और सुभाह उठ कर खली पेट इस का सेवन करे ,गुडन में फेरोलीक एसिड पाया जाता है। जो डाइबिटीस की बीमारी में बोहत ज्यादा काईगर होता है अगर इसका सेवन पंधरा दिन करते हे तो आप देखेंगे की इसकी शुरुवात करते हे तो केवल दस दिन में ही आपका शुगर लेवल बोहत ही कम अच्छी तरह इंप्रू हो जायेगा और पंधरा दिनों में तो पूरी तरह घटने लग जायेगा इसके आलावा बोहत ही घरेलु नुस्के हे...  

सर्जन के पेड़ के पत्ते। 

   तो यह भी एक बोहत आसानीसे मिल जानेवाला पेड़ है इस पेड़ में एक तरह की फल्ली लगती है जिसको सुरजने  की फल्ली भी कहा जाता हे इसको बनाने के लिए एक ग्लास पानी और एक कटोरी ताज़ी सर्जन के पत्तियों को भी डाले और फिर इसको मिक्सर में डाल कर एक ग्लास जूस तैयार करे इस जूस का सेवन रोजाना शाम और सुभह करे खाना खाने आधे घंटे पाहिले करे साथ ही इस ड्रिंक को लेने तक एक घंटा तक कोई दवाई का सेवन ना करे मतलब जिस टाइम दूसरी दवाई या लेते है उससे कमसे कम एक घंटे पाहिले या एक घंटे बाद ड्रिंक पिया करे तो दोस्तों सर्जन के पत्ते तो एस्कॉर्बिक एसिड पाया जाता हे जो हमारे शरीर में इन्सुलिन के मात्रा को प्राकृतिक रूपसे तेजीसे बढ़ाता है। जिससे हमारा ब्लड शुगर लेवल कम होता है जो लोग रोजाना इन्सुलिन या इंजेक्शन या दवाई ले रहे हे उनके लिए यह ड्रिंक प्राकृतिक की तरह है।

 तेज पत्ता, बेल पता ,जामुन ,मेथी दाना। 

*     तेज पत्ता और बेल के पत्ते आपको कही भी ,मिल जायेंगे। जामुन हमारे शरीर में शुगर की मात्रा में कम करने में जामुन और जामुन के बीज दोनों ही पुअरने समय से डाइबटीज इसके लिए इस्तमाल में लाये जाने वाली सबसे असर दार ओषधी हे इसी लिए जभी जामुन के सीजन आये तब रोजाना जामुन का सेवन जरूर करे और उसके बाद इसके बीज बचा ले ताकि उसके बिजूका इस्तमाल पुरे साल भर के लिए किया जा सके इसके आलावा हमें जरुरत होगी मेटि दाने की दोस्तों मेथी दानों का इस्तमाल अपनी डाइबटीज में बोहत ही अच्छा होता है इसलिए मेथी के दाने का इस्तमाल डाइबटीज के मरीजों को ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए इस नुस्के को बनाने के लिए बेल के पत्ते और तेज के पत्ते और जामुन के बीजो को अच्छी तरह से कुट्ट कर रख दे और अच्छी तरह से सूखा कर इन मिक्सर में पीस कर अच्छे से पाउडर बना ले। और सौ ग्राम जामुन बीज का पाउडर डेढ़सौ ग्राम बेल पत्तो का पाउडर मिला ले पच्चास ग्राम तेल पत्ता पाउडर पच्चास ग्राम मेथी दाना पाउडर ,इन सबको मिलाये इस तरह से इन साडी चीजों को मिला कर एक जून तैयार हो जायेगा इस जून का रोजाना नास्ता करने से पाहिले उबला हुवा पानी में गुनगुना पानी दो चमच पाउडर मिला ले। बेल पत्रों के अन्दर अन्तिकबॉयोटिक होती हे जो की शरीर में शुगर के मात्रा को कम  करती है।इसके आलावा जामुन के अन्दर अंतिक आक्सीजन पाए जाती हे साथ ही इसके अधिक मात्रा में फायबर होता हे जो की डाइबटीज में चमत्कारी तरीके से फायदे मंग साबित होता है। 

करेला ,निम ,मेथी दाना ,एलोवेरा। 


*      इन चारो चीजे सबसे ज्यादा प्रमुख माना जाता है। करेला एक ऐसा पेड़ होता हे जिसकी जड़से लेकर  फल तक इस्तमाल अनेक तरह की दवाई यो में होता है। करेले में इतने गुण पाए जाते हे की सर्जन्स लोगोने इसे प्लांट इन्सुलिन का नाम दिया है। करेले के अन्दर विटामिन a ,विटामिन b ,और विटामिन c ,तो इसमें पाए जाने वाली पोषक तत्व हमारे  शरीर में ब्लड शुगर और यूरिन शुगर दोनों को बोहत तेजीसे कम करते हे जिस से ब्लड प्रेशर और हाय पर टेंशन  की समस्या में भी बोहत लाभ मिलता है। इसलिए करेला का जूस रोजाना एक टाइम जरूर पीना चाहिए। इन सभी चीजोंका पाउडर मिला कर पि सकते है। जो की डाइबटीज का जिसे ख़तम करने में हमारे शरीर में मदत करेगा। जिसके लिए आपको जरुरत होगी मेथी दाने का पाउडर करेले के भिज का पाउडर निम् के पत्ते का पाउडर और दो चमच आँवले का पाउडर,एक चमच करेला का पाउडर,एक चमच मेथी दाने का पाउडर ,आधा चमच निम् पाउडर इन सभी को मिला कर उभलें हुवे पानी में दाल कर पि जाये इसके फायदे आपका शुगर कम करने में और ख़तम करने में बोहत ही जरुरी हो जाता है।



दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट पढ़के अच्छी  लगी  हो तो  कमेंट करे और शेयर करे।

दोस्तों साइट पर आने के लिए आपका खुप खुप आभार।


     












Previous Post
Next Post

post written by:

1 comment:

Kuchh Janna Hai To Yaha Search Kare